FIR On Imran Khan: जल्द हो सकती है पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान की गिरफ्तारी, FIR की गई दर्ज

FIR On Imran Khan: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के अध्यक्ष इमरान खान पर एफआईआर (FIR On Imran Khan) दर्ज की गई। असल में इमरान खान पर पुलिस अधिकारियों और जज को खुलेआम धमकी देने का आरोप लगा है। जिसके बाद इस मामले पर एफआईआर दर्ज की गई। यह मामला शनिवार का है जब इमरान खान ने पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के एफ-9 पार्क में अपने सार्वजनिक भाषण के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों एक महिला न्यायाधीश, राज्य संस्थानों और नौकरशाहों को खुलेआम धमकी दी थी।

FIR On Imran Khan

आतंकवाद विरोधी अधिनियम के तहत इमरान खान पर मामला (FIR On Imran Khan) दर्ज किया गया है। साथी ही आतंकवाद अधिनियम के सेक्टर 7 के अंतर्गत, इमरान खान के खिलाफ न्यायिक और कानून प्रवर्तन अधिकारियों को चैलेंज देने का मामला दर्ज किया गया है।

FIR On Imran Khan: पीटीआई के खिलाफ पक्षपात का आरोप

शनिवार को पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने एफ 9 पार्क में पाकिस्तान के पुलिस अधिकारी आईजी और डीआईजी को शाहाबाज गिल के साथ कथित तौर पर दुर्व्यवहार करने पर अंजाम भुगतने की चेतावनी दी थी। इमरान खान ने बताया कि, ‘आईजी और डीआईजी ने कहा कि हम आपको नहीं बख्शेंगे।’ इस दौरान इमरान खान ने पीटीआई के खिलाफ पक्षपातपूर्ण व्यवहार के लिए अतिरिक्त सत्र न्यायधीश जेबा चौधरी पर आरोप लगाया। बता दें कि जेबा चौधरी वही जज हैं, जिन्होंने शाहबाज गिल को 2 दिन की रिमांड पर भेजा था और साथ ही पुलिस अधिकारियों को उन्हें अदियाला जेल रावलपिंडी ले जाने का आदेश दिया था।

ये भी पढें:Jantar Mantar Kisan Mahapanchayat: दिल्ली के जंतर मंतर पर किसानों की महापंचायत, बॉर्डर पर बढ़ाई सुरक्षा

FIR On Imran Khan: जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

पाकिस्तान के पूर्व पीएम इमरान खान ने महिला जज को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी देते हुए कहा कि, ‘जेबा तैयार रहें, हम आपके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।’ और इन्हीं बयानों को लेकर इमरान खान के खिलाफ एफआईआर (FIR On Imran Khan) दर्ज की गई है। पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री राणा सनाउल्ला ने बताया कि ‘इमरान खान न्यायपालिका और पुलिस अधिकारियों को धमकी देने के लिए जवाबदेह रहेंगे। उनसे कानून के अनुसार निपटा जाएगा।’ जानकारी के अनुसार पूर्व पीएम इमरान खान की जल्द गिरफ्तारी के लिए पुलिस कमांडो की संयुक्त टीमों का गठन किया जा रहा है।

ये भी पढें:UPI: यूपीआई के जरिए पेमेंट करने पर लगेगा शुल्क या नहीं? जानें वित्त मंत्री का बयान

Leave a Comment