PM Modi Flies Drone : ड्रोन महोत्सव के दौरान पीएम मोदी ने दिल्ली में उड़ाया सर्विलांस ड्रोन

PM Modi Flies Drone : प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय राजधानी में दो दिवसीय India Drone Festival 2022 का शुभारंभ किया। उन्होंने इस फेस्टिवल के पहले दिन ड्रोन उड़ाकर (PM Modi Flies Drone) सबको चौंका दिया। इसके साथ ही उन किसानों से भी बात की जो कृषि में ड्रोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि ड्रोन तकनीक को बढ़ावा देना सुशासन और जीवन को आसान बनाने की दिशा में हमारी प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाने का एक और तरीका है। हमारे पास ड्रोन के रूप में एक स्मार्ट टूल है, जो लोगों की जिंदगी का हिस्सा बनने जा रहा है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि 2014 से पहले शासन में प्रौद्योगिकी के उपयोग के प्रति “उदासीनता” का माहौल था और गरीब और मध्यम वर्ग के लोग इससे सबसे अधिक प्रभावित थे। प्रधान मंत्री ने जोर देकर कहा कि वर्तमान सरकार ने ड्रोन सहित प्रौद्योगिकी की मदद से अंतिम मील सेवाओं तक पहुंचना सुनिश्चित किया है।

ये भी पढ़े : UP Budget 2022 : योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट हुआ जारी, जानें पूरी डिटेल

PM Modi Flies Drone मेरा सपना है कि हर खेत में एक ड्रोन हो

उन्होंने कहा, “ऐसे समय में जब हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं मेरा सपना है कि भारत के हर व्यक्ति के हाथ में स्मार्ट फोन हो, हर खेत में ड्रोन हो और हर घर में समृद्धि हो।” पीएम मोदी ने कहा कि भारत में ड्रोन तकनीक को लेकर जिस तरह का उत्साह देखा जा रहा है वह अद्भुत है और यह इस उभरते हुए क्षेत्र में रोजगार सृजन की संभावनाओं की ओर इशारा करता है।

ये भी पढ़े : Tomato Fever : केरल में फैल रहा टमाटर फ्लू, 80 से अधिक बच्चे हो रहे संक्रमित

PM Modi ने कहा प्रौद्योगिकी को समस्या समझा गया था

पीएम मोदी ने कहा कि आठ साल पहले हमने सुशासन के नए मंत्रों को लागू करना शुरू किया और न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन के सिद्धांत का पालन करते हुए जीवन की सुगमता और व्यापार को प्राथमिकता दी गई। पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों के कार्यकाल में तकनीक को समस्या का हिस्सा माना जाता था और उन्हें ‘गरीब विरोधी’ करार देने की कोशिश की जाती थी। इससे 2014 से पहले के शासन में तकनीक के इस्तेमाल को लेकर उदासीनता का माहौल था और इसका सबसे ज्यादा असर गरीब और मध्यम वर्ग पर पड़ा। उन्होंने कहा, “ड्रोन प्रौद्योगिकी (Drone Technology) को बढ़ावा देना सुशासन और जीवन में आसानी के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाने का एक और तरीका है।”

भारत ड्रोन महोत्सव में सरकारी अधिकारियों, विदेशी राजनयिकों, सशस्त्र बलों, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, निजी कंपनियों और ड्रोन स्टार्टअप सहित 1,600 से अधिक प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

Leave a Comment